मंगलवार, 10 जुलाई 2018

Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi |दिल भरी शायरी हिंदी

Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi  

Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi



 हम भी कुछ प्यार के गीत गाने लगे हैं, 
जब से ख़्वाबों में मेरे वो आने लगे हैं।

 Hum bhi kuchh pyaar ke geet gaane lge hain,
Jab se khwabo main mere vo Aane lge hain.




Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi




तेरे रंग में ऐसे रंगीन हो गए हैं हम, 
कि तेरे बिना जिंदगी के रंग फीके लगेंगे।

Tere rang main aise ragin ho gye hain hum,
ki tere bina zindagi ke rang phike lgenge.


Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi  

Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi





अगर आप अजनबी थे तो लगे क्यों नहीं, 
और अगर मेरे थे तो मुझे मिले क्यों नहीं।

 Agar aap ajanvi the to lge kyun nahi,
or agar mere the to mujhe mile kyun nahi.




Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi





मुझे इश्तिहार सी लगती हैं, 
ये मोहब्बतों की कहानियाँ 
जो कहा नहीं, वो सुना करो, 
जो सुना नहीं, वो कहा करो।

 Mujhe istihaar see lgti hain,
ye mohabbato ki kahaniya
jo khaha nahi,Vo suna kro,
Jo suna nahi,Vo kaha kro.





Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi

Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi  






तेरे लिए चले थे हम, तेरे लिए ठहर गए।
तूने कहा तो जी उठे,, तूने कहा तो मर गए।।

Tere liye chle the hum,tere liye thahar gye.
tune kaha to jee uthe,tune kaha to mr gye.




Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi





न भूख है मुझे न दौलत की प्यास बाकी है, 
मिलती रहे हर किसी से मोहब्बत काफी है।

NAA bhukh hai mujhe n daulat ki pyaas baaki hai,
milti rhe har kisi se mohabbat kaafi hai.





Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi  

Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi




बजाय सीने के आँखों में धड़कता है दिल,
ये इंतज़ार के लम्हे भी बड़े अजीब होते है

Bjay seene ke aankho se dhadkta hai dil,
ye intzaar ke lammhe bhi bde ajeeb hote




Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi





सब कुछ तो है, क्या ढूंढती रहती है निगाहें।
क्या बात है मैं वक़्त पर घर क्यूँ नहीं जाता।।

Sab kuchh to hai,kya dhundhti rhti hai niganhe,
kya baat haim main waqt par ghar kyun jaata





Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi






घर के बहार ढूंढता रहता हूँ दुनिया,,
घर के अंदर दुनियादारी रहती है।।

 Ghar ke bahar dhundhta rhta hun duniya,
ghar ke andar duniyadaari rhti hai.





Hindi Love Shayari | Love Shayari Hindi



प्यारी सी बारिश
और हम तुम...
इतनी सी ख्वाहिश
और बस...हम तुम..


 Pyaari see barish
or hum tum...
itni se khwahish
or bus...hum tum...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें