(Best 10) Suvichar Hindi True Line Of Life(Top Hindi Vachan

Suvichar In Hindi For Life: 

स्वर्णिम वाक्य  प्रत्येक के जीवन मैं हर अवसर पर काम आने  वाले वाक्य (Suvichar Hindi)

सुख और दुःख ,आशा व् निराश के जीवन मैं आते जाते हैं रहते हैं। सुख व आशा के क्षणों मैं प्रसंन रहते हैं। लेकिन दुःख व निराश की घडी मैं अवलबन की आवस्य्क्ता महसूस होती है। ऐसे मैं सांत्वना के दो वाक्य संजवनि की भांति काम काम  आते हैं  (Suvichar Hindi)आपके जीवन मैं हर जगह काम आते है। 

Suvichar, Hindi

 


निराशा मैं प्रतीक्षा अंधे की लाठी है। प्रेमचंद 


Niraasha Main Pratiksha Andhe Ki Laathi Hai.

 

Suvichar, Hindi

 


जीवन मैं निराशा से बड़ा कोई अभिशाप नहीं है। स्वामी विवेकान्द 


Jeevan Main Niraasha Se Bda Koi Abhisaap Nahi Hai .

 

Suvichar, Hindi

 


जिसे स्वंम पर भरोषा नहीं वह नास्तिक है। स्वामी विवेकान्द 


Jise Swam Par Bharosha Nahi Bah Nastik Hai.

 

True Line Of Life Suvichar Hindi: 

 जैसा की हम सब जानते हैं की Life अच्छे और बुरे दिन आते हैं। इसलिए हम आपके लिए कुछ Suvichar Hindi इस पोस्ट मैं लिख रहे हैं। इन अनमोल वचन से आपके अंदर कुछ इफ़ेक्ट जरूर पड़ेगा। 

Suvichar, Hindi

मनुष्य के लिए निराशा के सामान अन्य कोई पाप नहीं है। इसलिए मनुष्य को इस पापरूपिणी निराशा को पूर्णत; हटाकर आशावादी बनना चाहिए। 


Manusay Ke Liye Niraasha Ke Samaan Anay Koi Paap Nahi Hai.Isliye Manusay Ko Is Paaprupadi Niraasha Ko Pudatah Htakar Aashawaadi Bnna Chahiye.

 

Suvichar, Hindi

 


जिसके मन मैं खोट न हो। वही सुंदरता को परख सकता है। स्वेत मार्डेन 


Jiske Man Main Khaut N Ho.Wanhi Sundarta Ko Parakh Sakta Hai.

 

Suvichar, Hindi

 


गन्दी पुस्तकों को पड़ना विष पिने के समान है। टॉल्स्टाय 


Gandi Pustko Ko Padna Vish Pine Ke Smaan Hai.

 

Suvichar Hindi For Life:

Suvichar, Hindi

 


वह पुस्तक जो बंद रखी है ,केवल कागजो का ढेर है 


Vah Pustak Jo Band Rakhi Hai,Kewal Kaagjo Ka Dher Hai.

 

Suvichar, Hindi

 


प्रशंसा वह हथियार है जिससे शत्रु को भी मित्र बनाया जा सकता है। स्वामी दयानंद 


Prashansa Wah Hatiyaar Hai Jisse Shtru Ko Bhi Mitra Bnaya Jaa Skta Hai.

 

Suvichar, Hindi

 


प्रेम आँखों से नहीं ,हदय से होता है। अतः प्रेम के देवता को अँधा बताया गया है। 


Prem Aankho Se Nahi Hirday Se Hota Hai.Atah Prem Ke Devta Ko Andha Btaya Gya Hai.

दोस्तों ये पोस्ट आपको कैसी लगी है। अगर अच्छी लगी है तो अपने दोस्तों को शेयर करे और comment करे धन्यबाद।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*